BestHindiHelp.Com

Best Hindi Blog Website for Blogging, SEO, Internet, Technology, Tech Tips, Job Exam Preparation, Exam Paper, Career, Job & More info

Technology

HTML क्या है यह कैसे काम करता है इसकी विशेषताएं और उपयोग

What is HTML in Hindi

HTML क्या है हिन्दी मे बताइए

आज इस लेख में हम HTML क्या है का अध्ययन करेंगे। इसे पढ़ना बहुत आसान है। अब HTML क्या है? हम शॉर्ट फार्म HTML को Hypertext Markup Language कहते हैं। Website बनाने में HTML एक computer भाषा है। और रंगों को बदलने के लिए CSS का उपयोग करते है।

HTML का पूरा नाम Hyper Text Markup Language है। जो की HTML एक मार्कअप भाषा है जिसे वेब पेज बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। इसका भी उपयोग वेब एप्लीकेशन बनाने में किया जाता है।

दूसरे शब्दों में, “HTML एक कंप्यूटर भाषा है जिसका उपयोग वेबसाइटों और एप्लीकेशन बनाने में किया जाता है।”“ HTML बहुत सरल भाषा है, इसे आसानी से सीख सकते हैं।

एचटीएमएल वेब पेज का स्ट्रक्चर बताता है। HTML में कई tags हैं जिनका उपयोग करके आसानी से वेब पेज बना सकते हैं।

HTM वेब ब्राउज़र को बताता है कि वेब पेज पर मौजूद सामग्री को किस प्रकार दिखाना चाहिए। HTML में जावास्क्रिप्ट और CSS का उपयोग करके सुंदर और आकर्षक वेबसाइट बना सकते हैं।

HTML को लिखने के लिए किसी विशिष्ट सॉफ्टवेयर की आवश्यकता नहीं होती इसके लिए हमें notepad और web browser की जरूरत होती है, जो पहले से ही हमारे कंप्यूटर पर उपलब्ध हैं।

HTML को Tim Berners-Lee ने 1991 में HTML बनाया। HTML सबसे प्रचलित भाषा है क्योंकि यह सबसे आम है। इस भाषा से दो या अधिक वेबसाइटों को आपस में जोड़ा जा सकता है।

यह भाषा dynamic web page वेबसाइट बनाने में सक्षम नहीं है, इसलिए इसे प्रोग्रामिंग भाषा नहीं माना जाता। इसका उपयोग करके हम केवल स्टेटिक वेबसाइटों को बना सकते हैं।

HTML में Hypertext और Markup language मिलकर बनाया गया है। एचटीएमएल फ़ाइलों के दो एक्सटेंशन हैं.html और.htm। अर्थात, इसकी फ़ाइलों को.html और.htm प्रारूपों में बदलकर संग्रहित करना चाहिए।

HTML यह आपको आसानी से समझ में आ जाएगा अगर आप इसे पूरा पढ़ेंगे। तो चलिए शुरू करते हैं:

एचटीएमएल क्या है

HTML in Hindi

HTML in Hindi ज्यादातर वेबसाइटों को HTML नामक कोडिंग भाषा में लिखा जाता है। HTML वेब पेज बनाने और उन्हें कार्यात्मक बनाने में प्रयोग किया जाता है।

एचटीएमएल मूल रूप से एक मार्कअप भाषा है। क्योंकि इसमें कोई logical गणित नहीं है, यह कोई प्रोग्रामिंग भाषा नहीं है।

HTML एक मार्कप टेक्स्ट भाषा है। “Hypertext Markup Language” इसका पूरा नाम है। यह एक वेब पेज की संरचना बताता है। वेब पेज बनाने में यानी का HTML प्रयोग किया जाता है।

HTML के अलग-अलग घटक है। साथ ही, घटक टैग्स वेब ब्राउज़र को सामग्री दिखाने की प्रक्रिया बताते हैं।

HTML element में कई सारे tags होता है, जैसे की <header>, <p> paragraph (अनुच्छेद), इत्यादि।

HTML सबसे प्रचलित भाषा है जब वेबसाइट या वेब पेज बनाते हैं।

Tim Berners-Lee ने 1991 के अंत में पहला HTML बनाया था। फिर इसका संस्करण धीरे-धीरे बदलता गया, और 2023 में, HTML5 को अधिक स्मार्ट वेब पेज बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है।

HTML की मदद से बनाई गई एक वेबसाइट को दुनिया भर से कोई भी व्यक्ति देख सकता है। HTML को वैज्ञानिक Tim Berners-Lee ने 1980 में जिनेवा में बनाया था। HTML एक platform-independent language है जिसका उपयोग Windows, Linux, Macintosh सहित किसी भी platform में किया जा सकता है।

एचटीएमएल की विशेषताएं

Features of HTML in Hindi

HTML एक आसान भाषा है, इसलिए इसे सीखना और याद रखना आसान है। इसके अलावा, हम इसे आसानी से बदल सकते हैं।

इस भाषा की संरचना सरल है।

यह भाषा प्लेटफॉर्म स्वतंत्र है, इसलिए इसका उपयोग किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ किया जा सकता है।

इस भाषा से हम वीडियो, ऑडियो और चित्रों को वेबसाइट पर डाल सकते हैं।

यह case-sensitive नहीं है, इसलिए टैग्स को ऊपरी और निम्नलिखित दोनों तरीकों से लिखा जा सकता है।

HTML में कई formatting tags हैं, जिससे प्रभावी प्रदर्शन बनाया जा सकता है।

यह एक markup language है जो वेब पेज बनाना आसान बनाता है।

इस भाषा का उपयोग करके एक प्रोग्रामर एक वेबसाइट पर लिंक बना सकता है।

एचटीएमएल के प्रकार

Types of HTML in Hindi

HTML5 को तीन श्रेणियों में बाँट सकते हैं:

  1. Transitional HTML
  2. Frameset HTML
  3. Strict HTML

Transitional HTML

यह HTML का सबसे आम रूप है। इसका सिंटैक्स आसानी से उपयोग किया जा सकता है और कोई सिंटैक्स सीमा नहीं है। यानी टैग गलत होने पर वेब ब्राउज़र वेब डेवलपर की त्रुटियों को ठीक नहीं करते, और सामग्री को वैसे ही प्रदर्शित करते हैं।

Frameset HTML

इस प्रकार का HTML वेब डेवलपर्स को HTML दस्तावेज़ों का मोज़ेक बनाने की अनुमति देता है, जिससे एक स्क्रीन में कई दस्तावेज़ों को जोड़ा जा सकता है। वेब पेज का मेनू सिस्टम बनाने के लिए अक्सर इसका उपयोग किया जाता है।

Strict HTML

HTML में नियमों को वापस करने और इसे अधिक विश्वसनीय बनाने के लिए एचटीएमएल का सख्त संस्करण उपयोग किया जाता है। उदाहरण के लिए, सभी खुले टैग बंद करने की जरूरत है। मुक्त कोड पृष्ठों को तेजी से लोड करने में मदद करता है, जो इस तरह के एचटीएमएल फोन में महत्वपूर्ण है।

एचटीएमएल के वर्जन

HTML version in Hindi

HTML 1.0

1991 में Tim Berners Lee ने HTML का पहला वर्जन लांच किया था।

HTML 2.0

1995 में लांच हुए HTML का दूसरा वर्जन था। यह एक सामान्य वेबसाइट डिज़ाइन संस्करण था। इस संस्करण में नए फीचर्स जोड़े गए, जैसे फाइल अपलोड करना और फॉर्म बनाना।

HTML 3.2

W3C ने 1997 में इस वर्जन को बनाया था। यह तीसरा HTML संस्करण था। इस वर्जन में टेबल बनाने की सुविधा थी। इस संस्करण में गणितीय कार्य जैसे जोड़, घटाना, गुणा करना, भाग करना आदि भी कर सकते थे। आज अधिकांश सभी ब्राउज़र इस वर्जन को सपोर्ट करते हैं।

HTML 4.01

दिसंबर 1999 में HTML का इस संस्करण जारी किया गया था। यह संस्करण सबसे स्थिर था। हम अपने वेब पेज में जावास्क्रिप्ट और CSS भी इसमें प्रयोग कर सकते थे।

HTML 5

यह HTML का सबसे नया संस्करण है, जो जनवरी 2008 में रिलीज़ हुआ था। W3C (World Wide Web Consortium) और WHATWG (Web Hypertext Application) इस संस्करण को बनाया। इसमें नए फीचर शामिल हैं, जैसे कि इससे हम अपने वेब पेज पर वीडियो और ऑडियो जोड़ सकते हैं।

HTML के Elements

Elements of HTML in Hindi

<!DOCTYPE>

HTML पेज केवल <!DOCTYPE> से शुरू होते हैं। यह ब्राउज़र को HTML संस्करण बताता है।

<html >

यह HTML पेज का मूल element है। पूरे पेज को यह परिभाषित करता है।

<head>

यह भाग एक container है जिसके माध्यम से वेब पेज की अतिरिक्त सामग्री स्टोर की जाती है। इस भाग में दस्तावेजों और metadata की जानकारी शामिल होता है।

<title>

इस घटक का उपयोग वेब पेज का नाम लिखने में किया जाता है। ब्राउज़र में यह नाम दिखता है। इस घटक को हेडटैग के अंदर रखा जाता है।

<body>

यह घटक ब्राउज़र में वेब पेज पर उपलब्ध सभी सामग्री प्रदर्शित करता है। जैसे कि – heading, paragraph, image, और video आदि

<h1>

इसका उपयोग शीर्षक बनाने के लिए किया जाता है। यह सबसे प्रमुख हैडिंग है.

<p>

इसका इस्तेमाल paragraph लिखने के लिए किया जाता है.

HTML का उपयोग

Use of HTML in Hindi

HTML का उपयोग करके एक webpage बनाना बहुत ही आसान है, इसके लिए आपको दो चीजें चाहिए: पहला, एक साधारण text editor जैसे Notepad है, जिसमें html का code लिखा जाता है; दूसरा, एक browser जैसे Internet Explorer, Google Chrome, Mozilla Firefox आदि चाहिए, जो आपकी वेबसाइट को अलग करता है और इंटरनेट उपयोगकर्ता उसे देख सकते हैं।

Tags, जो notepad में लिखी गई छोटी-छोटी लाइनों से मिलकर HTML बनाते हैं। HTML tags ने ब्राउजर को बताया है कि उसमें लिखे गए element को वेबसाइट पर कहाँ और कैसे दिखाया जाए।

HTML में उपलब्ध कई tag graphics, font size और color को आकर्षक बनाते हैं। HTML code लिखने के बाद आपको अपना document save करना होगा. इसके लिए आपके html फ़ाइल का नाम.htm या.html लिखना होगा, अगर नहीं तो आपके ब्राउजर में आपका html document नहीं दिखाई देगा।

Save करने के बाद अपना html document देखने के लिए ब्राउजर को खोलना होगा। वह browser आपके html फ़ाइल को पढ़ेगा और आपके सही तरीके से लिखे हुए code को अनुवाद करके आपके website को उसी तरह दिखायेगा जैसा आपने सोचा था।

आपका web browser html tags को website पर नहीं दिखाता; इसके बजाय, वे आपके document को सही तरह से दिखाने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।

एचटीएमएल के अनुप्रयोग

Applications of HTML in Hindi

इसका इस्तेमाल निम्नलिखित स्थानों पर किया जाता है:

वेब पेज बनाने के लिए HTML का उपयोग किया जाता है।

इस भाषा को एक पेज से दूसरे पेज में जोड़ने के लिए प्रयोग किया जाता है।

वेबसाइट बनाने में इस भाषा का प्रयोग किया जाता है।

वेब डेटा बनाने में इस भाषा का उपयोग किया जाता है।

यह भाषा संग्रह से संबंधित काम करने में मदद करता है।

इस भाषा का भी उपयोग खेल बनाने में किया जाता है।

एचटीएमएल के फायदे

Advantages of HTML in Hindi

Advantages of HTML in Hindiएचटीएमएल के क्या क्या फायदे है, जानते है –

HTML का उपयोग करना किसी भी यूजर या प्रोग्रामर के लिए आसान है। यह एक आसान भाषा है जिसे सिखना आसान है।

इस भाषा का उपयोग करने के लिए यूजर को कोई सॉफ्टवेयर नहीं खरीदना होगा क्योंकि यह मुफ्त भाषा है।

यह लगभग सभी ब्राउज़रों को सपोर्ट करता है।

यह भाषा आसान है। और इस भाषा को बदलना भी आसान है।

इस भाषा को दूसरी भाषाओं के साथ प्रयोग किया जा सकता है। PHP, JavaScript, CSS आदि के साथ इसका उपयोग किया जा सकता है।

HTML को zip file में compress किया जा सकता है, इसलिए डाउनलोड करना आसान है।

यह भाषा छोटी है, यानी छोटी है।

हम इस भाषा का उपयोग करके वेबसाइट की खोज इंजन optimizing (SEO) को बेहतर बना सकते हैं।

एचटीएमएल के नुकसान

Disadvantages of HTML in Hindi

तो चलिये एचटीएमएल के फायदे के बाद अब एचटीएमएल के नुकसान को भी जानते है –

इस भाषा से डायनामिक वेब पेज नहीं बनाया जा सकता, यह केवल स्टेटिक वेबसाइट बना सकता है।

इस भाषा की संरचना को समझना काफी कठिन है।

इस भाषा को संभालना बहुत मुश्किल है।

इसमें सरल पृष्ठ बनाने के लिए प्रोग्रामर को काफी कोड लिखना होगा।

इस भाषा की सुरक्षा बहुत कमजोर होती है, इसलिए हैकर आसानी से इसे चोरी कर सकते हैं।

HTML कैसे काम करता है

HTML दस्तावेजों का एक्सटेंशन “.html” या “.htm” है। और उस HTML डॉक्यूमेंट में किसी Text editor (जैसे Notepad, आदि) द्वारा लिखे गए HTML elements/tags होते हैं, जिन्हें हम html code भी कहते हैं। HTML code editors एक प्रौद्योगिकी उपकरण है।

वेब ब्राउज़र, जैसे Internet Explorer, Google Chrome, Mozilla Firefox और Safari, किसी HTML फ़ाइल को देखने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

ब्राउज़र पहले HTML फ़ाइलों को पढ़ता है और HTML tags के अनुसार सामग्री को दृश्य रूप में अनुवाद करता है।

ज्यादातर HTML tags में शुरू का टैग “<..>” है और अंत का टैग “</..>” है। उदाहरण के लिए, नीचे HTML तत्वों को संरचित किया जा सकता है:

यहाँ उपयोग किए गए उदाहरण में HTML tags का ज्ञान होना चाहिए:

</div> इसका उपयोग करके खंड बनाया जाता है।

{h1}: शीर्षक देने के लिए h1, h2, etc. टैग का उपयोग किया जाता है।

“p”: इस टैग को अनुच्छेद में प्रयोग किया जाता है।

a: इस टैग को hyperlink कहा जाता है, जो एक पेज से दूसरे पेज को जोड़ता है।

HTML टैग्स क्या हैं

HTML tags in Hindi

HTML tags के तीन मुख्य part (भाग) होते हैं:- पहला opening tag, दूसरा content, और तीसरा closing tag. लेकिन कुछ ऐसे tags भी होते हैं जिनका closing tag नहीं होता है।

html कोडिंग करते समय tags लगाना आवश्यक है क्योंकि इसके बिना हम कोई काम नहीं कर सकते। इन बिंदुओं के साथ सभी HTML tags लिखा जाता है।

HTML Documents क्या है

HTML Documents in Hindi

HTML document एक text document है, जो.html या.htm एक्सटेंशन के साथ बचाया जाता है। इसमें पाठ और कुछ HTML टैग हैं। HTML document के सामग्री में शुरू का टैग कम से कम चिह्न “<” और अंत का टैग “>” अधिक से अधिक चिह्न के बीच में होता है। साथ ही, प्रत्येक HTML टैग एचटीएमएल डॉक्यूमेंट को कैसे प्रारूपित करने के लिए दिशानिर्देश देता है।

उदाहरण के रूप में यदि HTML document में हेडिंग देना चाहते हैं तो <h1> और <h6> tags का उपयोग करें।

निष्कर्ष:

आज हमने HTML क्या है, कैसे काम करता है और उसके मूल टैग्स को समझा। जैसा कि पहले कहा गया है, HTML कम्प्यूटर का बहुत ही सरल भाषा है, जिसे कोई भी आसानी से सीख सकता है। तो आपको यह जानकारी कैसा लगा, कमेंट मे जरूर बताए और दूसरों के साथ शेयर भी जरूर करे।

Share करे

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *