Safe Eco Friendly दीवाली कैसे मनाएं Diwali Celebration in Hindi

Celebrate Safe Eco Friendly in Hindi | Safe Eco Friendly Diwali Kaise Manaye

सेफ इको फ्रेंडली दीवाली कैसे मनाये

नवरात्र भी चला गया और अब दशहरा भी चला गया और अब आने वाली है Diwali. जी हां Diwali के त्यौहार को लेकर लोगों में बहुत क्रेज रहता है Diwali से पहले ही लोग सोचने लग जाते है की दीवाली में क्या-क्या करेंगे Diwali से कुछ दिन पहले ही बाजारों में भीड़ होने लग जाती है और लोग खरीददारी करना शुरू कर देते है

वास्तव में Diwali रौशनी और उल्लास का त्यौहार है सबसे ज्यादा किसी भी त्यौहार को लेकर क्रेज बच्चों में ज्यादा रहता है क्योंकि उन्हें Diwali में पटाखे फोड़ने को मिलते है लेकिन अगर आप अपनी Diwali को खुद के लिए दूसरों के लिए और प्रदूषण के लिए सेफ बनाना चाहते है तो इस पोस्ट में बताई गई बातों का भी ध्यान रखें

जिस तरह दिवाली का त्यौहार ख़ुशी और उल्लास का है उसी तरह अगर इसे लापरवाही के साथ मनाया तो इसका अंजाम भी बुरा हो सकता है दीवाली के दौरान पटाखों से बहुत से हादसे होते है ऐसे में सावधानी रखना बहुत जरुरी है तो आईये जानते है सेफ और एको फ्रेंडली दिवाली कैसे मनाते है?

सेफ और इको फ्रेंडली दिवाली कैसे मनाएं?

How To Celebrate Safe And Eco Friendly Diwali 

Safe और Eco Friendly Diwali मनाने के लिए हमे इन बातो का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए जो इस प्रकार से है

1:- सिंथेटिक कपड़े ना पहने

जाहिर सी बात है दिवाली का त्यौहार है तो पटाखे तो जलाएंगे ही और लक्ष्मी पूजन के बाद छोटे से लेकर बड़े सब पटाखे जलाते है ऐसे में आपको पटाखे जलाने के दौरान कॉटन के कपड़े पहनने चाहिए आपको सिंथेटिक कपड़े पहनने से बचना चाहिए, क्योंकि यह कपड़े आग भी जल्दी पकड़ते है और शरीर पर चिपक जाते है इसलिए सफी दीवाली के लिए खुद की सुरक्षा भी बहुत जरुरी है जो सबके लिए अनिवार्य भी है

2:- स्थान का चुनाव सही से करें

पटाखे जलाने के दौरान सही स्थान का चुनाव करना बहुत जरुरी है पटाखो को हमेशा खुले स्थान पर ही जलाएं और अगर पटाखे जलाने के दौरान आग लग जाती है तो बंद ज्यादा घातक हो सकता है इसलिए पटाखे हमेशा खुले स्थान पर ही जलाएं ताकि प्रयाप्त जगह होने से आप दुर्घटना से बच सकते है इसलिए पटाखों के लिए खुले मैदान का उपयोग करे

3:- पटाखों के साथ मजाक ना करें

कुछ लोग पटाखों को हाथ से पकड़कर जलाते है तो कुछ लोग पटाखों को कांच की बोतल में रखकर जलाते है कुछ लोग पटाखों को हाथ से उपर हवा में फेंकते है लेकिन याद यह भी रखें आपका यह बाहुबली बनना खुद के लिए और लोगों के लिए बहुत नुकसानदायक हो सकता है आपकी एक गलती बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकती है

इसलिए पटाखों को नीचे जमीन पर रखकर ही जलाएं अन्यथा हीरो और बाहुबली बनने के चक्कर में सारा साम्राज्य नष्ट कर बैठोगे पटाखे जलाते समय अगरबत्ती, लकड़ी आदि का इस्तेमाल करें जिससे आपका हाथ पटाखों से दूर रहें. राकेट जैसे पटाखे जलाते समय ध्यान रखें की उसकी नोक खिड़की, दरवाजे या खुली बिल्डिंग की तरफ ना हो अन्यथा बड़ी दुर्घटना हो सकती है

4:- बच्चों को सही से और स्पष्ट निर्देश दे

पटाखे जलाने के दौरान सबसे ज्यादा गलतियां बच्चे ही करते है जहां तक हो सके उन्हें बच्चों को पटाखों के नुकसान के बारे में बताएं और उन्हें पटाखे जलाने से रोके फिर भी अगर बच्चे नहीं माने तो उन्हें बहुत हल्के पटाखे दे और अपने हाथ से जलाएं

अगर बच्चे पटाखों को लेकर लापरवाह हो रहे है तो उन्हें इसके नुकसान के बारे में बताएं और उन्हें अच्छे से समझाएं जितनी दूर पटाखों की चिंगारी आ सकती है उतनी दूर तक बच्चों को ना आने दे और कभी भी बिना अपनों की निगरानी के बिना बच्चो को पटाखे नही जलाने दे

5:- उपयोग किये पटाखों को नष्ट करना

जो पटाखे जल गये हो उन पटाखों को सावधानी से नष्ट करें और हो सके तो आप उन्हें पानी से नष्ट करें और हो सके तो सावधानी से बालू की बाल्टी में रख सकते है इससे होने वाली अनहोनी से बच सकते है

और बहुत से ऐसे भी पटाखे होते है जिनमे आग तो लगती है लेकिन वे जल नही पाते है यानी एक तरह से उन्हें खराब मान लिया जाता है और कभी कभी वे अचानक से फट भी जाते है ऐसे में दुर्घटना भी हो सकती है इसलिए ऐसे पटाखों को बच्चो से दूर रखे या फिर उन्हें पानी से भिगो दे ताकि उनके अंदर थोड़ी सी भी आग हो तो वह बुझ जाए जिससे अचानक होने वाले खतरों से बचा जा सकता है

6:- मोमबत्तियां और दीपक सही से जलाएं

घर में दीपक और मोमबत्तियां सही से जलाएं दीपक के आसपास कोई पर्दा ना रखें अन्यथा पर्दे में आग लगने से पुरे घर में आग लग सकती है छोटी सी सावधानी रखने से आप बड़ी से बड़ी अनहोनी से बच सकते है

7:- जानवरों की सुरक्षा का ध्यान रखें

कुछ लोग पटाखों के साथ जानवरों पर मजाक करते है पटाखों को जानवरों की पूंछ में बांध देते है या उन पर फैंक देते है हमेशा ध्यान रखें कभी भी जानवरों के साथ मजाक ना करें उनकी देखभाल का ध्यान रखें और उनकी सुरक्षा का ध्यान रखें

8:-बड़े-बूढों की चिंता करें

दिवाली खुशियों का त्यौहार है अगर घर के आसपास किसी बुजुर्ग की तबियत सही ना हो तो पटाखे थोड़े दूर छोड़े. बड़े-बुजुर्गों का ध्यान रखें. अगर लोग पटाखों की तेज आवाज सहन नहीं कर पाते है तो उनका विशेष ध्यान रखें

9:- मास्क पहने

कुछ लोगों को धुएं से एलर्जी हो तो वह अपने मुहं पर मास्क पहने जिससे धुंआ नाक में प्रवेश ना कर सके अस्थमा की शिकायत वाले मरीजों को पटाखों से बचना चाहिए

10:- आग लगने पर

अगर कपड़े में आग लग जाती है तो उसे पानी या कम्बल से बुझाना चाहिए जहां तक हो सके सावधानी रखें की ऐसी घटना ना हो बच्चों के 10 फीसदी और बड़ी को 15 फीसदी जलने पर ना घबराएँ. ऐसा होने पर जले हुए हिस्से को तब तक बहते पानी में रखें जब तक की जलन शांत ना हो जाएँ पटाखे जलाते समय आसपास देख ले की कोई आग फैलाने वाली चीज तो नहीं है

11:- प्राथमिक चिकित्सा किट तैयार रखें

जाहिर सी बात है पटाखे जलाएं बिना तो आप रहेंगे नहीं और ऐसे में कभी भी अनहोनी हो सकती है. इसलिए प्रथमिक चिकित्सा किट तैयार रखें ताकि घर पर प्राथमिक उपचार कर सके. साथ ही आँखों में डालने वाली ड्राप की व्यवस्था भी कर ले और जिन्हें अस्थमा की शिकायत है वो इन्हेलर की व्यवस्था कर ले.

12:- सावधानी ही सुरक्षा

Diwali का त्यौहार खुशियों का त्यौहार है इसलिए इस त्यौहार को हसी ख़ुशी मनाने के लिए अगर छोटी छोटी बातो से सावधानी करते है और यह आपके सुरक्षा के लिए ही लाभदायक है इसलिए जितनी अधिक सावधानी बरतेगे उतना ही मजे से त्यौहार भी मना सकते है इसलिए खुद अलर्ट रहे और अपनों को अनजाने खतरों से सावधान करते रहे

तो आप सभी हसी ख़ुशी खूब अच्छे से दिवाली मनाये और लोगो को भी दिवाली मनाने में सहयोग करे जितना खुद सावधान होंगे उतना ही सेफ दिवाली भी मना सकते है इसी के साथ आप सभी को हैप्पी दिवाली | Happy Diwali.

तो आप सबको यह पोस्ट Safe Eco Friendly Diwali Kaise Manaye Diwali Festival Essay कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इसे खूब शेयर भी जरुर करे

दिवाली पर इन पोस्ट को भी जरुर पढ़े

इसे शेयर करे :-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *