BestHindiHelp.Com

Best Hindi Blog Website for Blogging, SEO, Internet, Technology, Tech Tips, Job Exam Preparation, Exam Paper, Career, Job & More info

Technology

डोमेन नाम (Domain Name) क्या होता है इसकी परिभाषा, प्रकार और डोमेन कैसे रजिस्टर करे

What is Domain Name in Hindi

डोमेन नाम सिस्टम क्या है

आजकल डोमेन नाम (Domain Name) इंटरनेट के संचार माध्यमों का एक महत्वपूर्ण भाग बन गया है, जिसका महत्व विशेष रूप से ऑनलाइन पहचान और पहुंच में होता है।

Domain Name या DNS (Domain Naming System) एक नामकरण है जिससे हम किसी वेबसाइट को इंटरनेट पर पहचान सकते हैं। हर वेबसाइट एक या अधिक IP address से जुड़ी हुई है।

Browser को Internet Protocol Address (IP) नामक एक संख्या देता है जो उसे बताता है कि वेबसाइट Internet में कहाँ है।

जैसे लोगों को आसान बातें याद रहती हैं, उसी तरह हर वेबसाइट का नाम होता है. आप सोच सकते हैं कि डोमेन नाम एक सरल नाम है जिसे हम किसी IP पता से अलग कर सकते हैं। ये इंसानों द्वारा पढ़ा जा सकने वाला संस्करण है IP Address।

हम डोमेन नाम का उपयोग करके एक या अधिक IP Address खोज सकते हैं। उदाहरण के लिए, डोमेन नाम google.com कई IP को बदलता है। किसी विशिष्ट webpage को धुंडने के लिए URLs में भी domain name का उपयोग किया जाता है।

यह एक वेबसाइट, वेब पेज या इंटरनेट पर किसी भी सामग्री को अलग पहचान देता है। लोगों को अपने ब्राउज़र के माध्यम से वेबसाइटों तक पहुंचने के लिए डोमेन नाम, एक एकल स्ट्रिंग होती है जो इंटरनेट पर एकत्र किए गए नंबरों से मिलकर बनती है।

यह नाम एक वेबसाइट को अन्य वेबसाइटों से अलग करने में मदद करता है। विभिन्न वेबसाइटों को एक दूसरे से जोड़ने के लिए एक व्यावसायिक डोमेन नाम चुनना महत्वपूर्ण हो सकता है। हम इस लेख में डोमेन नामों का महत्व, उनका उपयोग और उनके प्राथमिक तत्वों का विवरण देंगे।

डोमेन नाम क्या है

Domain Name in Hindi

Domain Name in Hindiडोमेन नाम एक विशिष्ट वेबसाइट, वेब पेज, या इंटरनेट पर संसाधनों की पहचान करने के लिए उपयोग होने वाला एक यूनिक नाम है। यह इंटरनेट पर रहने वाले किसी भी स्थान की पहचान बनाने का साधन है, जिससे उपयोगकर्ता आसानी से उस स्थान तक पहुँच सकें।

डोमेन नाम एक अक्षर, संख्या और डॉट (.) से बना है। उदाहरण के लिए, “example.com” एक आम डोमेन नाम है जो इंटरनेट पर एक वेबसाइट को पहचानने के लिए उपयोग किया जाता है। वेबसाइट के प्रकार को बताने के लिए डोमेन नाम के पीछे का अंश, “com”, इसे एक विशेष श्रेणी में वर्गीकृत करता है।

विभिन्न वेबसाइटों को एक दूसरे से अलग करने में डोमेन नामों का महत्वपूर्ण योगदान है, जो वेबसाइटों को इंटरनेट पर विशिष्ट बनाते हैं। इसके लिए डोमेन नाम को व्यक्तिगत या व्यावसायिक ब्रांड के रूप में प्रचुरता प्रदान की जाती है।

डोमेन नाम की परिभाषा

Definition of Domain Name in Hindi

डोमेन नाम (Domain Name) एक विशिष्ट प्रकार की पहचान है जो इंटरनेट पर स्थित विभिन्न संसाधनों, जैसे वेबसाइट्स, वेब पेज्स, या इंटरनेट सेवाओं को पहचानने के लिए उपयोग की जाती है। यह एक एकल स्ट्रिंग है जो इंटरनेट पर एकत्र किए गए नंबरों से बनाई गई है.

उपयोगकर्ता एक वेब ब्राउज़र के माध्यम से इसे दर्ज करके इंटरनेट पर उपस्थित संसाधनों तक पहुंच सकता है। डोमेन नाम का चयन एक वेबसाइट या सेवा को आसानी से पहचानने में मदद करता है और उपयोगकर्ताओं को विशिष्ट पहचान के साथ इन सेवाओं तक पहुंचने में मदद करता है।

डोमेन के भाग

Part of Domain Name in Hindi

डोमेन नाम को विभिन्न भागों में विभाजित किया जा सकता है, जो इसके प्रबंधन और संरचना में मदद करता है। एक पूर्ण डोमेन नाम में ये भाग शामिल हैं:

प्रोटोकॉल

डोमेन नाम का पहला हिस्सा इंटरनेट पर डेटा संचार करने का प्रोटोकॉल दिखाता है। अक्सर: “http://” या “https://” का उपयोग करें।

सबडोमेन या उपडोमेन

यह भाग एक विशिष्ट भाग को दिखाता है और डोमेन का महत्वपूर्ण हिस्सा है। उदाहरण के लिए, एक डोमेन का सबडोमेन “ब्लॉग” हो सकता है: “http://blog.example.com”।

मुख्य डोमेन

यह भाग डोमेन का मुख्य शब्द और पहला शब्द होता है, जो एक निश्चित व्यक्ति, संस्था या संगठन को दर्शाता है। उदाहरण के लिए, डोमेन का मुख्य डोमेन “example” हो सकता है: www.example.com।

Top-Level Domain या TLD

डोमेन के प्रकार को दिखाने वाला यह भाग डोमेन का सबसे अंतिम भाग है। .com,.org और.net कुछ आम TLD हैं, लेकिन.edu,.gov,.info और.co भी हैं।

अक्सर “http://www.example.com” में “http://” सबडोमेन URL: “www” मूल डोमेन: उदाहरण के लिए, शीर्षस्तरीय डोमेन नाम “.com” के अंश मिलकर एक पूरा डोमेन नाम बनाते हैं, जिससे एक विशिष्ट स्थान या सेवा को इंटरनेट पर पहचाना जा सकता है।

डोमेन नाम काम कैसे करता है

Domain Name Work in Hindi

विभिन्न इंटरनेट संसाधनों, जैसे वेबसाइट्स और वेब पेज्स, को पहचानने के लिए एक प्रणाली डोमेन नाम कहा जाता है। निम्नलिखित क्रम में इसका काम होता है:

डोमेन पंजीकरण करना

पहले, हर व्यक्ति, कंपनी या संस्था को एक अलग डोमेन नाम देना होगा। वे डोमेन नामों को एक डोमेन रजिस्ट्रार से खरीदकर पंजीकृत करते हैं। रजिस्टर होने के बाद वे डोमेन का मालिक बन जाते हैं और उसे उपयोग कर सकते हैं।

डोमेन नाम सर्वर (DNS)

DNS इंटरनेट पर एक विशिष्ट सर्वर की ओर पहुंचाने के लिए एक डोमेन नाम को ब्राउज़र में लिखने का काम करता है। DNS डेटाबेस में इस डोमेन नाम को पहचानने के लिए एक IP पता होता है।

IP Address Resolution

DNS सर्वर से प्राप्त IP पते का उपयोग करके ब्राउज़र, एप्लिकेशन या किसी अन्य उपकरण ने वेबसाइट या संसाधन सर्वर से संपर्क बनाने में रुचि दिखाई है।

वेबसाइट प्रदर्शित करना

जब सर्वर से संसाधन का संपर्क स्थापित होता है, तो उपयोगकर्ता या ब्राउज़र संसाधन का विषय देख सकते हैं, जैसे वेबसाइट।

डोमेन नाम का उपयोग इस प्रक्रिया में उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट पर स्थित संसाधनों को पहचानने और पहुंचने में मदद करता है। यह सुरक्षित और व्यावसायिक तरीके से इंटरनेट पर जुड़े हुए है, जिससे उपयोगकर्ता अपने इंटरनेट अनुभव का आनंद ले सकते हैं।

डोमेन नाम के प्रकार

Types of Domain Name in Hindi

Types of Domain Name in Hindiडोमेन नाम कई प्रकार के होते हैं और कई श्रेणियों में रखे जा सकते हैं। निम्नलिखित कुछ प्रमुख डोमेन नाम हैं:

Generic Top-Level Domains (gTLDs)

.com,.net,.org,.edu,.gov,.info और.biz सबसे आम डोमेन नाम हैं। अक्सर, इन्हें किसी भी तरह का उपयोग किया जा सकता है।

Country Code Top-Level Domains (ccTLDs)

इनमें अलग-अलग देशों के लिए विशिष्ट डोमेन होते हैं, जैसे.us (संयुक्त राज्य),.uk (संयुक्त राज्य),.in (भारत),.ca (कनाडा) और इतने पर।

Subdomains

ये विशिष्ट वेबसाइटों या सेवाओं के लिए बनाए जा सकते हैं, और इन्हें मुख्य डोमेन (जैसे shop.example.com या blog.example.com) के नीचे शामिल किया जा सकता है।

Top-Level Domains (TLDs)

gTLDs और ccTLDs इसकी आम श्रेणी में हैं।

National Domains

कुछ देश अपने उपयोगकर्ताओं और नेटवर्कों को राष्ट्रीय डोमेन नाम देते हैं। इसमें.gov.in (भारत सरकार का डोमेन),.mil (संयुक्त राज्य सेना का डोमेन) आदि शामिल हैं।

Topical Domains

.blog,.app,.guru,.travel,.music जैसे कुछ डोमेन नाम विशिष्ट विषयों या उद्देश्यों के लिए बनाए जाते हैं।

स्पेशल डोमेन्स

.gov (सरकार),.edu (शिक्षा),.int (अंतरराष्ट्रीय संगठन) आदि विशिष्ट डोमेन नाम हैं।

उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं और उद्देश्यों के अनुसार इन प्रकार के डोमेन नामों का चयन किया जा सकता है।

डोमेन कहाँ से खरीदें

डोमेन नाम खरीदने के लिए आपको एक डोमेन नाम रजिस्ट्रार कंपनी से जुड़ना होगा। यहां आपको डोमेन नाम पंजीकरण सेवा मिलती है जो आपने चुना है। यहाँ कुछ प्रमुख डोमेन नाम रजिस्ट्रार कंपनियों की सूची है:

GoDaddy

GoDaddy जो वेब होस्टिंग और अन्य इंटरनेट सेवाएं प्रदान करता है, एक प्रसिद्ध और विश्वसनीय डोमेन नाम रजिस्ट्रार है।

Namecheap

नेमचीप भी एक लोकप्रिय डोमेन नाम रजिस्ट्रार है जो उपयोगकर्ताओं को कई सेवाएं देता है, जैसे वेब होस्टिंग और SSL प्रमाणपत्र, सहित।

Bluehost

Bluehost एक पूर्ण वेब होस्टिंग समाधान है, लेकिन डोमेन नाम पंजीकृत करने में भी मदद करता है।

Hostinger

होस्टिंगगेटर भी एक अच्छी वेब होस्टिंग सेवा प्रदाता है और डोमेन नाम रजिस्ट्रार कंपनी है।

Google डोमेन

गूगल डोमेन्स भी एक सुरक्षित और सुविधाजनक डोमेन नाम रजिस्ट्रार है जो गूगल की बनावटों से आता है।

www.domain.com

डोमेन नाम पंजीकरण सेवाओं के लिए एक अतिरिक्त विकल्प डोमेन डॉट कॉम है।

तो यह केवल कुछ उदाहरण हैं, लेकिन इसके अलावा इंटरनेट पर और भी कई डोमेन नाम रजिस्ट्रार आपको सेवा दे सकते हैं। आप एक डोमेन नाम रजिस्ट्रार से डोमेन खरीदते समय एक सालाना शुल्क देना होगा, जिसे रेजिस्ट्रेशन फीस कहते हैं। तब आप डोमेन नाम का मालिक बन जाते हैं, जिससे आप उसे अपनी वेबसाइट या ऑनलाइन नाम के रूप में उपयोग कर सकते हैं।

डोमेन नाम कैसे बनायें

आपको डोमेन नाम खरीदने के लिए एक डोमेन नाम रजिस्ट्रार कंपनी से पंजीकृत करना होगा। यहाँ कुछ कदम हैं जो आपको इस प्रक्रिया में मदद करेंगे:

विचार करें और चुनें

अपनी वेबसाइट के विषय और उद्देश्य के अनुसार एक अच्छा डोमेन नाम चुनें। इसमें आपकी वेबसाइट को आसानी से पहचाना जा सकता है और आसानी से याद किया जा सकता है।

उपलब्धता की जाँच करें

विभिन्न डोमेन पहले से पंजीकृत हो सकते हैं, इसलिए चुने गए डोमेन नामों की उपलब्धता को देखें। विभिन्न डोमेन नाम रजिस्ट्रारों की वेबसाइटों पर जाकर आप अपना पसंदीदा डोमेन नाम देख सकते हैं।

डोमेन नाम के रजिस्ट्रार का चयन करें

जब आपका डोमेन नाम उपलब्ध हो जाता है, आपको एक डोमेन नाम रजिस्ट्रार चुनना होगा जिससे आप इसे पंजीकृत कर सकते हैं। जैसा कि पहले कहा गया है, कुछ प्रसिद्ध डोमेन नाम रजिस्ट्रार हैं, जैसे GoDaddy, Namecheap और Google Domains।

डोमेन नाम रजिस्टर करे

डोमेन नाम पंजीकृत करने के लिए चयनित रजिस्ट्रार की वेबसाइट पर जाएँ। आपको अपनी जानकारी भरनी होगी और सालाना रुपये या अन्य मुद्रा में रेजिस्ट्रेशन फीस देनी होगी।

नियमों का समायोजन

जब आप एक डोमेन नाम पंजीकृत कर लेते हैं, तो आप डोमेन नाम रजिस्ट्रार के डैशबोर्ड पर जा सकते हैं और अपनी वेबसाइट के लिए आवश्यक सेटिंग्स बना सकते हैं। वेब होस्टिंग, एमेल सेटिंग्स और DNS सेटिंग्स इसमें शामिल हो सकते हैं।

इसके बाद आप अपने डोमेन नाम का उपयोग वेबसाइट, ब्लॉग, ऑनलाइन स्टोर या किसी अन्य ऑनलाइन पहचान के लिए कर सकते हैं। डोमेन नाम आपकी ऑनलाइन पहचान बनता है, इसलिए इसे बहुत सोच-समझकर चुनें।

बाद में आप अपने डोमेन नाम का मालिक बन जाते हैं, जिससे आप इसे अपनी वेबसाइट या लक्ष्य के लिए उपयोग कर सकते हैं। जब आप डोमेन नाम चुनते हैं, तो यदि संभव हो तो दूसरों से सुझाव लेना अच्छा होता है।

डोमेन और URL में अंतर

Difference between Domain and URL in Hindi

URL (Uniform Resource Locator) और डोमेन नाम (Domain Name) दो अलग-अलग तत्व हैं जो वेब पर संसाधनों को पहचानने में उपयोग किए जाते हैं। यहां इन दोनों में अंतर की व्याख्या की गई है:

डोमेन नाम एक अलग पहचान है जो इंटरनेट पर एकत्र किए गए अक्षरों और नंबरों का एक विस्तृत समूह होता है। इसका उपयोग वेबसाइट्स, वेब पेज्स और अन्य इंटरनेट सामग्री को अलग करने के लिए किया जाता है। उदाहरण के लिए, “example.com,” “google.com,” “wikipedia.org” आदि

विशेष संसाधन तक पहुंचने के लिए, URL (Uniform Resource Locator) एक पूरा वेब पता है। यह सभी सुरक्षित और गैर-सुरक्षित संदर्भित योजनाओं, जैसे “http://” या “https://”, को भी शामिल कर सकता है. डोमेन नाम भी शामिल हो सकता है।

उदाहरण के लिए, “https://www.example.com/page” या “http://www.google.com/search?q=query” लिखें।

जैसे डोमेन नाम एक पहचान है जो कई अक्षरों और नंबरों से बना है, जबकि URL डोमेन नाम सहित होता है और स्थान को बताने के लिए बाकी जानकारी देता है। डोमेन नाम भी URL में होता है, लेकिन URL अधिकतर संसाधन का पूरा पता दिखाता है।

निष्कर्ष :

डोमेन नाम एक विशिष्ट और स्थायी नाम है जो इंटरनेट पर संदर्भित सामग्री को व्यक्त करता है। यह उपयोगकर्ताओं को विभिन्न वेबसाइट्स, सेवाओं, और अन्य इंटरनेट संसाधनों से जुड़ने में मदद करता है और उनकी व्यक्तिगत और व्यावसायिक पहचान बनाने में मदद करता है। यह विश्वव्यापी वेबसाइट्स को एक विशिष्ट भाषा प्रदान करता है जिससे उपयोगकर्ताओं को इंटरनेट खोजने के लिए सीधे पहुँच मिलती है।

उपयोगकर्ता एक विशिष्ट डोमेन चुनता है और पंजीकृत होने के बाद इंटरनेट पर अपनी पहचान बना सकता है, जो उसके ऑनलाइन प्रस्तुति का हिस्सा बनता है। यही कारण है कि डोमेन नाम नहीं सिर्फ एक वेबसाइट का पता देता है, बल्कि एक व्यक्ति या व्यवसाय की ऑनलाइन पहचान दिखाने वाला एक महत्वपूर्ण उपकरण भी है।

Share करे

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *