आधार की सुरक्षा करने वाले बायोमेट्रिक्स लॉक और वर्चुअल आईडी

0

Biometrics And Virtual Id Kya Hai Details In Hindi

आधार बायोमेट्रिक्स लॉक और वर्चुअल आईडी क्या है पूरी जानकारी

सरकारी और गैर सरकारी सेवाओं के लिए Aadhar आधार अनिवार्य होता जा रहा है Bank Account खुलवाने, गैस कनेक्शन, सब्सिडी, राशनकार्ड, Sim card और अब तो इंटरव्यू तक में आधार कार्ड की मांग की जाने लगी है Aadhar Card जितना अनिवार्य होता जा रहा है उसकी सुरक्षा के प्रति चिंता भी उतनी ही तेजी से बढ़ रही है.

खासकर आधार और बैंक अकाउंट और पिन नंबर को परस्पर लिंक होने के कारण अपनी जमापूंजी के प्रति चिंता बढ़ना स्वभाविक है हैकिंग के बढ़ते खतरों से इसे अछुता नहीं किया जा सकता Digital Locker जैसी तकनीक का उपयोग करना सभी के लिए संभव नहीं है ऐसे में आधार सुरक्षा के नए तरीके खोने के प्रयास जारी है.

खुद आधार ऑनलाइन सिस्टम में भी सुरक्षा के विकल्प है जिन्हें यूजर अनजान रहते है तो दूसरी और Virtual Id भी विकल्प के तौर पर सामने आया है जो आधार द्वारा जारी किया गया प्राइवेसी संबधी बीटा वर्जन है, जिसका आधार नंबर की जगह उपयोग किया जा सकता है.

बायोमेट्रिक्स डाटा लॉकिंग क्या है   

Biometrics Data Locking in Hindi 

Biomatrix And Virtual IdAadhar Card बनवाते समय लिए गए हमारे फिंगर प्रिंट और रेटिना स्कैन बायोमेट्रिक डाटा | Biometrics Data कहलाता है जिसे आधार सत्यापन के लिए उपयोग किया जाता है और किसी उत्पाद के खरीदने पर पहचान और प्रमाण के तौर पर दिया गया आधार कार्ड देते है तो टेलीकॉम कंपनी उस नंबर से यूजर के विवरण तक पहुँच सकती है और सही यूजर को सत्यापित कर सकती है.

लेकिन ऐसी अनेक शिकायतें सामने आती है की यूजर के दिए बिना ही उनके आधार डाटा को Biometrics सत्यापन के लिए Access किया गया है ऐसे में यूजर का चिंतित होना स्वभाविक है ऐसी स्थिति से बचने के लिए वह आधार के UIDAI Server पर जाकर अपना Data यानी Biometrics जानकारी को लॉक कर सुरक्षित रख सकते है तथा जरूरत पड़ने पर Unlock कर सकते है तथा Verification पूरा होने पर दोबारा लॉक कर सकते है.

लेकिन डाटा को लॉक करने के बाद आधार पर आधारित लेनदेन और निवेदन को केवल यूजर के लिंक मोबाइल नंबर पर मिले OTP के जरिये ही Verify कर पाएंगे क्योंकि Data Lock से अंगूठे और आँखों से स्कैनिंग की सुरक्षा निष्क्रिय हो जाएगी.

आधार डाटा लॉक करने की प्रक्रिया 

Aadhar Data Lock Process Details in Hindi

आधार के डाटा को लॉक करने के लिए इस प्रकिया के जरिये डाटा को लॉक कर सकते है –

1:- सबसे पहले UIDAI की वेबसाइट पर जाएँ.

2:- 12 नंबर वाला अपना आधार नंबर डालें.

3:- आधार नंबर के नीचे दिखाई दे रही तस्वीर पर दिख रहे सिक्योरिटी कोड को लिखें

4:- जनरेट OTP पर क्लिक करें

5:- इसके बाद OTP को SMS के जरिये आपके रजिस्टर्ड फोन पर भेजा जायेगा

6:- अब उसी पेज पर बने बॉक्स में OTP डालें और वेरीफाई पर क्लिक करें.

7:- अब Enabled Biometric Locking को चैक कर दे.

8:- अब यदि इसे Disable करना चाहे तो Enable Biometric Locking को अनचैक कर दे

वर्चुअल आईडी क्या है

Virtual Id Kya Hai Details in Hindi

Virtual Id | वर्चुअल आईडी वास्तव में 16 डिजिट का एक अस्थाई नंबर होता है जो आधार के लिए एक मुखौटे का काम करता है जिससे मुख्य आधार नंबर छिपा रह सके ख़ास बात यह है की यह अस्थाई नंबर बदलता रहता है पहचान सत्यापित करने के लिए यह भी आधार की तरह ही काम करता है और मोबाइल एंव अन्य कम्पनियां आपके सत्यापन के लिए केवल नाम, पता और फोटो आदि सिमित जानकारी ही पा सकेंगे.

इस सेवा का उपयोग वे सभी लोग कर पाएंगे जिनके मोबाइल नंबर आधार से रजिस्टर्ड है ख़ास बात यह है की वर्चुअल आईडी | Virtual Id केवल आधार कार्ड धारक ही जनरेट कर सकता है और अपने अनुसार उसके रहने की समय सीमा भी तय कर सकता है अगर एक दिन के लिए वर्चुअल आईडी | Virtual Id जनरेट किया गया तो वो अगले दिन काम नहीं करेगा.

वर्चुअल आईडी जनरेट करने की प्रक्रिया

Virtual Id Generate Process details in Hindi

1:- UIDAI की वेबसाइट http://resident.uidai.gov.in/web/resident/vidgeneration के होमपेज पर जाए

2:- यहां आधार सर्विसेज टैब में सबसे नीचे की और Virtual ID Generate का आप्शन दिखेगा. इस पर क्लिक करें.

3:- VID पर क्लिक करने के बाद आने वाले नए पेज पर आपको अपना आधार नंबर और सिक्योरिटी कोड भरना होगा जो उसी पेज पर दिखाई देता है.

4:- इसके बाद OTP भेजने के आप्शन पर क्लिक करें तो कुछ ही टाइम में OTP आपके मोबाइल पर आ जायेगा.

5:- दिए गए पेज पर OTP डालने के बाद दिखाई देते गोले में क्लिक करें और VID जनरेट करें. जो की आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर पर भेजा जायेगा. यही पर आपके VID दोबारा पाने के भी आप्शन मिलेंगे.

आधार की ऑनलाइन सेवाएं

Aadhar Online Service

आधार की वेबसाइट यानी UIDAI पर केवल आधार कार्ड ही नहीं बनता बल्कि यहां कई सेवाएं भी उपलब्ध है जिनका लाभ उठाया जा सकता है जैसे की :-

1 – प्राइवेसी मजबूत करने के लिए बायोमेट्रिक डाटा लॉक अनलॉक करना.

2 – वर्चुअल आईडी बनाना.

3 – आधार नामांकन और अपडेट करने संबधी केंद्र की जानकारी देना.

4 – आधार कार्ड बनने की प्रक्रिया कहां तक पहुंची है यह जानकारी जानने के लिए UIDAI पोर्टल के होमपेज पर जाकर Check Aadhar Status पर जाकर स्टेटस चेक करें.

5 – आधार कार्ड में पते या कुछ बदलाव ऑनलाइन किया जा सकता है.

6 – आधार की Website से आधार कार्ड का डिजिटल फोर्मेट डाउनलोड कर सकते है.

7 – Email Address और मोबाइल नंबर को वेरीफाई करने के लिए Verify Email/Mobile No. की मदद ले सकते है.

8 – आपकी पहचान प्रमाणित करने के लिए कहाँ-कहाँ आधार का इस्तेमाल किया गया है उसका सम्पूर्ण विवरण जान सकते है.

9 – Check Status Updation In Online लिंक पर क्लिक कर आधार कार्ड का अपडेट स्टेटस जान सकते है.

10 – आधार नामांकन पर्ची या आधार कार्ड खो जाने पर पोर्टल के जरिये दोबारा हासिल कर सकते है.

तो आप सबको यह आधार की सुरक्षा करने वाले बायोमेट्रिक्स लॉक और वर्चुअल आईडी के बारे में जानकारी कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इसे शेयर भी जरुर करे.

Load WooCommerce Stores in 249ms!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here