Operating System क्या है इसके प्रकार, Components और सर्विसेज की जानकारी

Operating System Definition Services, Components And Operating System Services Types In Hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है, इसके कंपोनेंट क्या है ओर इसकी सर्विसेज क्या है तथा जानिये इसके प्रकारों के बारे में

Operating System एक ऐसा System Software है जो Computer में होने वाले सभी ऑपरेशन और फंक्शन को मैनेज करता है या यूजर को कार्य करने के लिए Environment प्रोवाइड कराता है तथा यह यूजर और मशीन के बीच Interface का कार्य भी करता है. Operating System Computer सिस्टम का एक महत्वपूर्ण और आवश्यक कंपोनेंट है जिसका मुख्य उद्देश्य Computer को सुविधाजनक बनाना और इसके हार्डवेयर को कुशल उपयोग करना है.

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है

Operating System Kya Hai | Operating System Definition in Hindi

Operating Systemयह Computer सिस्टम के रिसोर्सेस को अरेंज करके रखने वाला Software है जो मेमोरी प्रोसेसर, इनपुट, आउटपुट डिवाइसेज तथा सिस्टम फाइल जैसे रिसोर्सेस को मैनेज करता है. तो चलिए आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे की आखिर Operating System की सर्विसेज क्या है, इसके कंपोनेंट क्या है और इसके प्रकार क्या है?

ऑपरेटिंग सिस्टम के कंपोनेंट

Components Of Operating System in Hindi

1:- Process Management

कोई भी प्रोग्राम जो Execution में है वह प्रोसेस कहलाता है उदहारण के लिए एक टाइम शेयरिंग यूजर प्रोग्राम जैसे कम्पाइलर दूसरा वर्ड प्रोसेसिंग जो किसी पर्सनल Computer द्वारा चलाया जाए, एक सिस्टम टास्क जो प्रिंटर को आउटपुट भेजता है. एक प्रोग्राम खुद कोई प्रोसेस नहीं होता है. यह प्रोसेस का न्यूट्रल स्टेट होता है.

2:- Main Memory Management

मेन मेमोरी कई बाइट्स का ग्रुप होता है. प्रत्येक बाइट्स का अपना एक एड्रेस होता है. Main Memory Input | Output Device और CPU के द्वारा एक्सेस किये जाने वाले डाटा का Archive होता है.

3:- File Management (Secondary Storage Management)

फाइल इनफार्मेशन का कलेक्शन होता है तथा यह Bit, Byte, Line तथा Record का सिक्वेंस होता है. Operating System स्टोरेज मीडिया को व्यवस्थित करके फाइल की धारणा का प्रयोग करता है. फाइल मैनेजमेंट के अंतर्गत Operating System निम्न कार्य करता है.

  • न्यू फाइल बनाना.
  • फाइल को डिलीट करना.
  • फाइल का नाम चेंज करना.
  • फाइल को कॉपी करना आदि.

4:- Input/Output Management

Operating System का एक मुख्य कार्य इनपुट तथा आउटपुट से संबधित ऑपरेशन को कण्ट्रोल करना होता है. यह यूजर द्वारा दिए गए निर्देशों को एक्सेप्ट करके उसमे संबधित ऑपरेशन को यूजर के निर्देशों के अनुसार दिए गए आउटपुट डिवाइस में भेजता है.

ऑपरेटिंग सिस्टम की सर्विसेज की जानकारी

Services Of Operating System in Hindi

Operating System प्रोग्राम के Execution के लिए विभिन्न प्रकार के रिसोर्सेज प्रोवाइड करता है तो आईये जानते है Operating System की सर्विसेज के बारे में.

1: – Input | Output Operation

Operating System प्रोग्राम को इनपुट | आउटपुट की सर्विस प्रोवाइड करता है जिससे रनिंग प्रोग्राम को इनपुट |आउटपुट की सुविधा ऑनलाइन प्राप्त होती है

2:- File System Manipulation

Operating System एक Mechanism प्रोवाइड करता है जिसके द्वारा फाइल से संबधित ऑपरेशन जैसे File Creation, Deletion, Read And Write File आदि प्रोवाइड करता है.

3:- Communication

कई बार एक प्रोसेस को एक सिस्टम से दुसरे सिस्टम तक ट्रांसमिट करने की जरूरत होती है, इसके दो तरीके होते है. पहला Transmittion Process के बीच होता है जो उसी Computer पर Execute हो रहा है और दूसरा ऐसे प्रोसेस के बीच होता है जो नेटवर्क द्वारा विभिन्न Computer के बीच हो रहा है. Operating System इस प्रकार के कम्युनिकेशन की सर्विस प्रोवाइड करता है.

4:- Error Detection

Operating System के ऑपरेशन से संबधित सभी एरर को बताता है. यह एरर यूजर प्रोग्राम इनपुट | आउटपुट, मेमोरी तथा C.P.U में उत्पन्न हो सकती है. प्रत्येक तरह के Error को खोजने के लिए Operating System में सही और लगातार कम्प्यूटेशन के लिए आवश्यक मैकेनिज्म तैयार होना चाहिये.

5:- Resource Allocation

Operating System रिसोर्स एलोकेशन की सर्विस प्रोवाइड करता है. यह सर्विस मल्टीप्ल यूजर या मल्टीप्ल जॉब को करते समय Operating System विभिन्न रिसोर्सेस को एक Schedule रूटीन में अलग-अलग यूजर तथा प्रोसेस के लिए एलोकेट करता है.

6:- Accounting

Operating System में हो रहे विभिन्न ऑपरेशन से संबधित रिकॉर्ड को मेंटेन करता है जो यूजर द्वारा प्रयोग किये जा रहे रिसोर्सेस से संबधित जानकारी रखता है. यह जानकारी रिसर्चर के लिए जरुरी और उपयोगी टूल कहा जाता है जो सिस्टम की परफोर्मेंस को सुधारने तथा अपडेट करने के लिए Reconfigure किये जाते है.

7:- Protection

Operating System प्रोटेक्शन की सर्विस भी प्रोवाइड करता है. अलग-अलग Operating System में अलग-अलग प्रोटेक्शन होते है. यह प्रोटेक्शन सिस्टम पासवर्ड के माध्यम से दिए जाते है जिसे Unauthorized User द्वारा सिस्टम को उपयोग से बचाया जा सके.

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार

Types Of Operating System details in Hindi

तो चलिए Operating System के कितने प्रकार के होते है जानते है

1:- Single User Operating System

इस तरह के Operating System में एक समय में एक ही प्रोग्राम एक्सीक्यूट होता है. ज्यादातर Computer में सिंगल वर्क Operating System का यूज़ किया जाता है. इस तरह के Operating System में एक प्रॉब्लम यह है की इसमें एक प्रोग्राम एक लाइन में अरेंज रहते है.

2:- Multi User Operating System

इसमें एक समय में एक से अधिक प्रोग्राम को मल्टीप्ल यूजर एक्सीक्यूट कर सकते है. आजकल कई Operating System अनेक कार्य एक करने की सुविधा देते है, जिसे मल्टीप्रोसेसिंग कहते है.

3:- Batch Processing Operating System

इसमें यूजर अपने प्रोग्राम को ऑफलाइन तैयार करता तथा कार्य पूरा हो जाने पर उसे डाटा प्रोसेसिंग सेण्टर पर जमा करा देता है. एक Computer ऑपरेटर इन सारे प्रोग्राम को कलेक्ट करता है जो की एक कार्ड पर पिंच होते है. जब ऑपरेटर प्रोग्राम बैच एक-एक करके एक्सीक्यूट करता है और अंत में उन सभी का आउटपुट यूजर को दे दिया जाता है.

4:- Multi Processing Operating System

इनमे दो या दो से अधिक प्रोसेसर एक-दुसरे से जुड़े रहते है. इस प्रकार के अलग और स्वतंत्र प्रोग्राम के निर्देश एक ही में एक से प्रोसेसर के द्वारा एक्सीक्यूट किये जाते है.

तो आप सबको यह महत्वपूर्ण पोस्ट ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है, इसके कंपोनेंट क्या है ओर इसकी सर्विसेज क्या है तथा जानिये इसके प्रकारों के बारे में | Operating System Services, Components And Operating System Services Types In Hindi कैसा लगा कमेंट में जरुर बताये और इसे दुसरो के साथ शेयर भी जरुर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *